Posts for May 2018

78. इच्छाधारी सर्प!

आज फिर से प्रस्तुत है, एक और पुरानी ब्लॉग पोस्ट। मैंने शायद दो ही ऐसी पोस्ट लिखी थीं जो रहस्य से भरी थीं। उनको ही क्रम से प्रस्तुत कर रहा हूँ, आज उनमें से पहली पोस्ट पेश है- आज एक […]

77. शैतान की फसल!

आज फिर से प्रस्तुत है, एक और पुरानी ब्लॉग पोस्ट – एक समस्या जिससे हमारा देश बहुत लंबे समय से जूझ रहा है और आज वह विश्वव्यापी समस्या बन गई है, वह है आतंकवाद की समस्या। आज पूरी दुनिया के […]

76. प्रद्युम्न के बहाने!

आज फिर से प्रस्तुत है, एक और पुरानी ब्लॉग पोस्ट – कुछ मामलों पर चर्चा करने की एकाएक हिम्मत नहीं होती। सात वर्ष का बच्चा प्रद्युम्न, एक प्रतिष्ठित स्कूल का नन्हा छात्र, सुबह उसके पिता उसको स्कूल छोड़कर आए और […]

75.जो हुआ ही नहीं अखबार में आ जाएगा!

आज फिर से प्रस्तुत है, एक और पुराना ब्लॉग, ब्लॉग पोस्ट दोहराने में भी एक मज़ा है, तो लीजिए आज की यह पुरानी ब्लॉग पोस्ट देखते हैं- – ज़नाब राहत इंदौरी का एक शेर याद आ रहा है जो उन्होंने […]

74. बोल मेरी मछली कितना पानी!

आज फिर से प्रस्तुत है, एक और पुराना ब्लॉग, ब्लॉग पोस्ट दोहराने में भी एक मज़ा है, तो लीजिए आज की यह पुरानी ब्लॉग पोस्ट देखते हैं-     –   पिछले कुछ दिनों आया आंधी-तूफान का मौसम अपने हिस्से की तबाही […]

73. संगीत की देवी स्वर-सजनी!

आज फिर से प्रस्तुत है, एक और पुरानी ब्लॉग पोस्ट – ज़िंदगी सिर्फ मोहब्बत नहीं कुछ और भी है, ज़ुल्फ-ओ-रुखसार की जन्नत नहीं कुछ और भी है, भूख और प्यास की मारी हुई इस दुनिया में इश्क़ ही एक हक़ीकत […]

72. सोच समझ वालों को थोड़ी नादानी दे मौला!

आज फिर से प्रस्तुत है, एक और पुराना ब्लॉग – इंटरनेट पर ज्ञान देने वाले तो भरे पड़े हैं, पर मैं  अज्ञान का ही पक्षधर हूँ। जो व्यक्ति आज भी दिमाग के स्थान पर दिल पर अधिकतम भरोसा करते हैं, […]

209. हाफ़िज खुदा तुम्हारा!

कल मैंने एक पुराना गीत शेयर किया था, जिसे मेरे एक पुराने मित्र और सहकर्मी गाया करते थे। आज फिर से एक पुराना गीत शेयर कर रहा हूँ, इसे भी मेरे वही मित्र गाते थे। इस गीत को शेयर करते […]

208. ज़िंदगी देने वाले सुन!

आज एक पुराना गीत याद आ रहा है, जिसे मुझे मेरे एक पुराने मित्र और सहकर्मी- श्री चुन्नी लाल जी गाया करते थे। ये गीत बहुत पुरानी फिल्म- दिल-ए-नादां का है, जिसे शकील बदायुनी जी ने लिखा है और गुलाम […]

71. इतना तो मेरे यार करो मैं नशे में हूँ!

आज फिर से प्रस्तुत है, एक और पुराना ब्लॉग – जगजीत सिंह जी की गाई, शायर शाहिद कबीर की इस गज़ल के बहाने आज बात शुरू करेंगे- ठुकराओ अब कि प्यार करो, मैं नशे में हूँ जो चाहो मेरे यार […]

Ad


blogadda

blog-adda

top post

BlogAdda

Proud to be an IndiBlogger

Skip to toolbar