आज फिर से रविवार का दिन था और लंदन में फिर से बाहर निकलने का प्रोग्राम बना। हालांकि आजकल बारिश यहाँ भी हिंदुस्तान से हमारे साथ चली आई है, इसलिए देखना पड़ता है कि कब निकल सकते हैं।

 

 

आज साउथहॉल जाने का प्रोग्राम बना, बच्चों ने इसे लाजपत नगर का नाम दिया हुआ है। कल हम ऑक्सफोर्ड स्ट्रीट गए थे, जिसे चांदनी चौक जैसा कहा था, क्योंकि वह शायद यूरोप के व्यस्ततम बाजारों में से एक है, चांदनी चौक की तरह और वहाँ अगर आपको मालूम है तो आप अपनी पसंद का हर सामान खरीद सकते हैं।

आज दिन था साउथहॉल का, जहाँ पहुंचकर लगता है कि हम भारत में ही आ गए हैं, बल्कि वहाँ अचानक पहुंचकर किसी अंग्रेज को यह लग सकता है कि वह कहाँ पहुंच गया है!

 

 

तीन लोकल लाइनों से सफर करने के बाद जब साउथहॉल स्टेशन से बाहर निकले तो सबसे पहले गुरुद्वारा दिखाई दिया, यहाँ मंदिर भी हैं और आपको अधिकतम हिंदुस्तानी दिखाई देंगे, भारतीय बैंक दिखेंगे, दुकानों के नामों में आप जाने-पहचाने भारतीय नाम देखते जाएंगे- अनुराग, दीपक, मीना, परंपरा आदि-आदि, हमारे सिख साथी वैसे तो दुनिया के हर हिस्से में दिखाई दे जाते हैं, लेकिन यहाँ काफी अधिक संख्या में दिखाई दे जाएंगे।

भारतीय खाना खाने के लिए हम यहाँ जिस रेस्टोरेंट में गए, उसका नाम था- चांदनी चौक रेस्टोरेंट, वैसे वहाँ शेर-ए-पंजाब और न जाने कितने ही रेस्टोरेंट, ढाबे आदि भारतीय नाम वाले हैं, भारतीय सामान, सब्जियां, मसाले आदि के लिए यहाँ बड़े-बड़े स्टोर हैं, जिनमें आपको सब भारतीय, या कहें कि एशियाई भी मिलेंगे, अंग्रेज तो कुछ भूले-भटके ही मिलेंगे। आपका अंग्रेजी में अगर हाथ तंग है तो यहाँ आप बिंदास हिंदी बोलकर अपना काम चला सकते हैं।

 

 

सभी प्रकार की भारतीय सामग्री, खाना और यहाँ तक कि समोसे और मिठाई भी- गुलाब जामुन, हलवा और क्या नहीं, यहाँ तक कि जलेबी के लिए तो अलग से ‘जलेबी जंक्शन’ नाम की दुकान है।

जब भी कभी आपको लंदन में रहते हुए भारतीय सामान खरीदना हो, भारतीय खाना खाना हो, अपने चारों तरफ हिंदुस्तान देखना हो, भारतीय नाम और किसी हद तक ट्रैफिक की अव्यवस्था भी, हॉर्न बजाती गाड़ियां आदि-आदि तो आप किसी दिन साउथहॉल पधार सकते हैं।

आज के लिए इतना ही।
नमस्कार।

********