Category: Uncategorized

क्या मेरे हक़ में फ़ैसला देगा!

हम अपने जीवन में बहुत सी अच्छी कविताएं और गज़लें सुनते हैं, उनका आनंद लेते हैं। कुछ गीत पंक्तियां, कुछ शेर ऐसे हो जाते हैं जिनको अक्सर ‘उद्धृत’ किया जाता है, लोग अपनी बात पर बल देने के लिए उनको […]

अपनी सुना आवारगी!

आज गुलाम अली जी की गायी एक ऐसी गज़ल शेयर कर रहा हूँ, जिसको सुनकर विशेष रूप से मेरी गुलाम अली जी की गायकी में विशेष रुचि पैदा हुई थे, यह वर्ष 1980 के आसपास की बात है शायद। इससे […]

53. पहाड़ों के क़दों की खाइयां हैं!

आज फिर से, लीजिए प्रस्तुत है एक और पुराना ब्लॉग| आज दुष्यंत कुमार जी का एक शेर याद आ रहा है- पहाडों के क़दों की खाइयां हैं बुलंदी पर बहुत नीचाइयां हैं। यह शेर दुष्यंत जी की एक गज़ल से […]

प्रतीक्षा- रवींद्रनाथ ठाकुर

आज मैं फिर से भारत के नोबल पुरस्कार विजेता कवि गुरुदेव रवींद्र नाथ ठाकुर की एक और कविता का अनुवाद प्रस्तुत कर रहा हूँ। यह उनकी अंग्रेजी भाषा में प्रकाशित जिस कविता का भावानुवाद है, उसे अनुवाद के बाद प्रस्तुत […]

ये कहानी फिर सही!

इंसान के बारे में बहुत सारी विशेषताएं लोग समय-समय पर बताते हैं। उनमें से एक यह भी है कि वह एक सामाजिक प्राणी है, और सामाजिक होने का मतलब यह भी है कि वह एक प्रतिक्रियाशील प्राणी है, क्योंकि अगर […]

WOW: Questions in Life!

Life in itself is full of a series of questions. In the beginning of civilization or rather before that, when human beings came into existence, survival was the biggest question. There were the wild animals and the human beings and […]

What’s wrong with Indian politics?

We Indians are the proud voters and masters of the biggest democracy in the world. After getting independence in 1947 we have made steady progress, which might be at a slower pace compared to some other countries, may be at […]

वो ख्वाब सुहाना बचपन का!

मैंने बचपन की बात करते हुए जगजीत सिंह जी के गाये हुए एक-एक गीत और गज़ल शेयर कर लिए हैं, तो मैं अपने परम प्रिय गायक मुकेश जी के एक अमर गीत को कैसे भूल सकता हूँ, जिसमें बचपन का […]

जब मेरे बचपन के दिन थे चाँद में परियाँ रहती थीं!

कल ही मैंने ‘पेरेंटिंग’ पर लिखी अपनी ब्लॉग पोस्ट के बाद बचपन की खूबसूरती, मदमस्ती और अलग ही दुनिया को याद करते हुए, श्री सुदर्शन फाकिर जी का लिखा गीत शेयर किया था। आज बचपन की ही खूबसूरती को दर्शाने […]

Ad


blogadda

blog-adda

top post

BlogAdda

Proud to be an IndiBlogger

Skip to toolbar