‘आशा’ से

आज भी मैं विख्यात अंग्रेजी कवि जॉन कीट्स की अंग्रेजी भाषा में लिखी गई एक और कविता का भावानुवाद और उसके बाद मूल अंग्रेजी कविता प्रस्तुत करने का प्रयास करूंगा। आज के लिए पहले प्रस्तुत है मेरे द्वारा किया गया […]

न दिल चाहता है, न हम चाहते हैं!

आज फिर से मुझे अपने प्रिय गायक मुकेश जी का गाया एक गीत याद आ रहा है। श्री राहिल गोरखपुरी जी का लिखा यह गीत, 1959 में बनी फिल्म- ‘मैंने जीना सीख लिया’ के लिए मुकेश जी ने रोशन जी […]

Living fully as Humans!

The new prompt for writing is – ‘Life is too important to be taken seriously.’ Yes very true, creatures must take their life seriously, if one does not, he or she may perish soon! But it is true for creatures […]

WOW: What a journey!

Again this is time to write a blog post based on a prompt. This time the challenge is to go to an old blog post and to change it, recycle, reproduce it. I had written a blog post based on […]

29. एक बूंद पानी में एक वचन डूब गया!

पुराने पन्ने पलटते हुए, एक क़दम और आगे बढ़ते हैं। जीवन यात्रा का एक और पड़ाव, लीजिए प्रस्तुत है एक और पुराना ब्लॉग! इस बार मैं जीवन के कुछ ऐसे प्रसंग इस विवरण से निकाल दे रहा हूँ, या संक्षिप्त […]

कोयल से

आज भी मैं विख्यात अंग्रेजी कवि जॉन कीट्स की अंग्रेजी भाषा में लिखी गई एक और कविता के कुछ भाग का भावानुवाद और उसके बाद मूल अंग्रेजी कविता का वह भाग प्रस्तुत करने का प्रयास करूंगा। आज के लिए पहले […]

सुंदरतापूर्ण वस्तु

आज मैं विख्यात अंग्रेजी कवि जॉन कीट्स की अंग्रेजी भाषा में लिखी गई एक कविता के कुछ भाग का भावानुवाद और उसके बाद मूल अंग्रेजी कविता, जिसका मैंने अनुवाद किया है, उसको प्रस्तुत करने का प्रयास करूंगा। आज के लिए […]

इब्तिदा नए साल की!

नया साल 2019 शुरू हो गया, आज पहला दिन है नए साल का, आप सभी को नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं। नई शुरुआत में आशाएं भी होती हैं और आशंकाएं भी, बेहतर है कि हम अपनी आशाओं को मजबूत करें। नए […]

नववर्ष-2019 की शुभकामनाएं।

समय निरंतर अविरल प्रवाह में बहता रहता है, आगे बढ़ता जाता है, उसमें कोई सीमा रेखाएं नहीं हैं, हाँ ग्रह-नक्षत्रों की गति, विशेष रूप से सूर्य के चारों ओर हमारी पृथ्वी की परिक्रमा के हिसाब से कुछ कैलेंडर विकसित किए […]

Online writers, reviewers-Idiots!

The weekly prompt on #IndiSpire is quite harsh towards those who write online in anyway. If I understand it covers everybody who writes online, who blogs and especially those who write Book reviews or write about lifestyle, food, fashion etc. […]

Ad


blogadda

blog-adda

top post

BlogAdda

Proud to be an IndiBlogger

Skip to toolbar